Types of Headache & Its Treatment Methods

There is no such person in this world who never faces a headache, which is why we consider it a small and generic health problem.

But do you know your frequent headache can signify some severe neurological disorder?

Shocked!

That’s right. Headache is of various types, and majorly people face normal headache issues only. But if you can educate yourself about this health issue, you will be able to know if you are healthy or not.

Different Types of Headache & Its Treatment

Understanding the type of headache you are facing is essential because only then would you be able to figure out its treatment method.

Let us discuss some of the most common types of headaches along with their treatment:

  • Tension Headache:

Have you ever noticed whenever you are under stress or tension, your head starts painting, and that pain is very dull. Secondly, you can also feel tiredness around your head, neck, and eyes.

You can treat your tension headache by giving your body a proper rest. You can also use an ice pack around your head, and lastly, you can take a hot shower to solve this issue.

  • Cluster Headache:

Under cluster headaches, you can notice severe burning pain around one side of your head, including your face. People also face issues like redness, swelling, and sweating with this type of headache.

If you are at your home and looking for remedies for cluster headaches, you can relax in a completely dark room; it will make you feel better. Secondly, you can also drink coffee, as caffeine can help you eliminate this headache.

If this issue is still not cured, you should contact the best Neurologist in Ludhiana.

  • Migraine:

If you have a migraine, you will face a deep pulsing pain from the inside of your head, and due to this headache, you will not be able to do your daily tasks properly. This pain would be different from your normal headache and will be one-sided only.

Scalp massage is one of the best home remedies for migraine issues; applying pressure on the scalp can help relieve stress. If you are still facing pain, you can sleep for a few hours; that will surely help you eliminate the issue.

  • Ice Pick Headache:

Just imagine you are doing your daily activities, and suddenly you face intense pain around your head for a few seconds. Such a headache is known as an ice pack headache.

You can use an ice pack around your head or neck area to reduce the stabbing pain of an ice pack headache.

Signs That You Should Visit Your Doctor Now

  • If the headache wakes you up at night while you sleep, it’s high time to visit your doctor.

Conclusion:

We hope you understand that not every headache is a normal headache. If you notice some severe signs and symptoms of headache, get in touch with the Best Neurosurgeon in Ludhiana.

You can connect with Neurociti Hospital for any such neurological disorder.

Send Us A Message

    A brief note on stroke.
    brain surgery

    A brief note on stroke.

    • February 16, 2024

    • 58 Views

    Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

    What is the definition of Parkinson’s disease?
    Parkinson's Disease

    What is the definition of Parkinson’s disease?

    • February 14, 2024

    • 136 Views

    Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

    ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
    Neurologist

    ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

    • February 10, 2024

    • 212 Views

    ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…

    Cervicogenic Headache: Symptoms, Causes, and Treatments

    A cervicogenic headache is defined by neck pain that radiates to the brain. It is a kind of headache brought on by another disease, such as an infection or a neck injury.

    Cervicogenic headaches are often confused for tension and migraine headaches, both of which can result in neck pain. This makes them distinct from main headaches like migraine and cluster headaches.

    If you experience this problem, you should seek advice from a medical professional at a reputable Neuro Hospital in Ludhiana to manage the situation more effectively.

    We go through just a few cervicogenic headache symptoms, causes, and treatments in this article.

    Symptoms

    One indication of CH is pain that occurs when your neck moves suddenly. Another is that having your neck in the same posture for an extended time might cause head pain.

    Other indications could be:

    • One side of your head or face may be in pain.
    • steady yet non-throbbing ache
    • When you breathe deeply or cough, your head may hurt.
    • a pain attack that may last for several hours or days
    • You cannot move your neck normally if it is stiff.
    • Pain that is confined to one area, such as the side, back, or front of your head or an eye

    Despite the differences between CH and migraines, some symptoms may be comparable. You could, for instance:

    • Feel sick to your stomach
    • Tough choice
    • Having shoulder or arm pain
    • Feel sick or uneasy under bright light
    • Feel sick or uneasy with loud noise
    • Have blurry vision
    • Some people feel both CH and a migraine simultaneously. It can be challenging to see the truth in this situation.

    Causes

    Cervicogenic headaches can be brought on by a variety of factors, and sometimes it’s impossible to identify the exact cause.

    CH can occur from long-term issues with your neck’s vertebral column, joints, or neck muscles. For instance, the way some people hold their heads while working, such as hair stylists, carpenters, and truck drivers, might cause CH.

    People who raise their heads out in front of their bodies occasionally get CH. “Forward head motion” is what that is, and it strains your neck and upper back.

    It can also come from a sports injury, whiplash, arthritis, or a tumble. Alternatively, your neck’s nerves could be compressed (squeezed).

    Cervicogenic headaches can also occur from a tumor or a fracture (minor break) in your neck or upper spine.

    Treatment

    There are different methods to reduce or alleviate the pain that comes with cervicogenic headaches:

    Medication: Non-steroidal anti-inflammatories, muscle relaxants, and other pain medications, such as aspirin or ibuprofen, may help to reduce the pain.

    Nerve block: This may provide short-term pain relief and improve your ability to benefit from physical therapy.

    Physical therapy: Stretching and exercise are helpful in physical therapy. Consult a Neurologist in Ludhiana to decide the best and safest form of exercise for you.

    Spinal manipulation: This combines joint movement, physical treatment, and massage. Only a physical therapist, a chiropractor, or an osteopath should perform it (a doctor who has special training in the way your nerves, bones, and muscles work together).

    Other options:  Acupuncture and relaxation techniques like deep breathing or yoga are 

    examples of non-surgical treatments to manage the discomfort.

    Surgery: Despite the rarity, if your CH discomfort is extreme, the Best neurosurgeon in Ludhiana can suggest a treatment to avoid pinching your nerves.

    Send Us A Message

      A brief note on stroke.
      brain surgery

      A brief note on stroke.

      • February 16, 2024

      • 58 Views

      Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

      What is the definition of Parkinson’s disease?
      Parkinson's Disease

      What is the definition of Parkinson’s disease?

      • February 14, 2024

      • 136 Views

      Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

      ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
      Neurologist

      ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

      • February 10, 2024

      • 212 Views

      ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…

      सिर दर्द के प्रकार और घरेलु उपायों को जानकर हम कैसे इससे छुटकारा पा सकते है ?

      सिरदर्द एक आम बीमारी है जो हमारे दैनिक जीवन को बाधित कर सकती है। सिरदर्द के प्रकारों को समझना और सरल घरेलू उपचार अपनाने से दर्द और परेशानी को कम करने में मदद मिल सकती है। इस ब्लॉग में, हम विभिन्न प्रकार के सिरदर्द और प्रभावी घरेलू उपचारों का पता लगाएंगे, तो सिर दर्द से पाना है निजात तो लेख के साथ अंत तक बने रहें ;

      सिर दर्द के प्रकार क्या है ?

      तनाव वाला सिर दर्द –

      तनावग्रस्त सिरदर्द अक्सर तनाव और चिंता के कारण होता है। उनमें लगातार, हल्का दर्द महसूस होता है, जो आमतौर पर सिर के दोनों तरफ महसूस होता है।

      तनाव से होने वाले सिरदर्द को कम करने के लिए, व्यक्ति गहरी साँस लेने के व्यायाम और ध्यान जैसी विश्राम तकनीकों का अभ्यास कर सकते है। ये गतिविधियाँ तनाव को कम करती है और मांसपेशियों को आराम देती है, जिससे सिरदर्द से राहत मिल सकती है।

      आधासीसी –

      माइग्रेन तीव्र होता है और अक्सर मतली, प्रकाश और ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता जैसे लक्षणों के साथ होता है। वे आमतौर पर सिर के एक तरफ को प्रभावित करते है।

      घर पर माइग्रेन का प्रबंधन करने के लिए, व्यक्ति आराम करने के लिए एक शांत, अंधेरा कमरा ढूंढ सकते है, माथे पर ठंडा सेक लगा सकते है और मतली और सूजन को कम करने के लिए अदरक की चाय पी सकते है।

      क्लस्टर का सिर दर्द –

      क्लस्टर सिरदर्द अविश्वसनीय रूप से दर्दनाक होते है और कुछ हफ्तों या महीनों की अवधि में समूहों में होते है, जिसके बाद सिरदर्द-मुक्त अंतराल होता है।

      क्लस्टर सिरदर्द के दौरे के दौरान, शुद्ध ऑक्सीजन लेना फायदेमंद हो सकता है। ऑक्सीजन थेरेपी सिरदर्द की गंभीरता और अवधि को कम करने में मदद कर सकती है।

      क्लस्टर सिर दर्द से राहत पाने के लिए लुधियाना में बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट से सलाह लें। 

      साइनस सिरदर्द –

      साइनस सिरदर्द साइनस संक्रमण और एलर्जी से जुड़ा हुआ है। वे माथे, गाल की हड्डियों और नाक में दर्द का कारण बनते है।

      साइनस सिरदर्द को कम करने के लिए, सेलाइन नेज़ल स्प्रे या नेति पॉट का उपयोग करने से जमाव को दूर करने और दबाव से राहत पाने में मदद मिल सकती है। साइनस सिरदर्द को कम करने के लिए भाप लेना एक और प्रभावी उपाय है।

      कैफीन निकासी सिरदर्द –

      कैफीन वापसी सिरदर्द अक्सर कैफीन सेवन में अचानक कमी से उत्पन्न होता है।

      इन सिरदर्द को कम करने के लिए, कैफीन का सेवन अचानक बंद करने के बजाय धीरे-धीरे कम करें। हाइड्रेटेड रहने और पर्याप्त नींद लेने से भी इन सिरदर्द की तीव्रता कम हो सकती है।

      निर्जलीकरण सिरदर्द –

      अपर्याप्त तरल पदार्थ के सेवन से निर्जलीकरण सिरदर्द उत्पन्न होता है, जिससे मस्तिष्क अस्थायी रूप से सिकुड़ जाता है।

      निर्जलीकरण सिरदर्द को रोकने और राहत देने के लिए, पूरे दिन खूब पानी पिएं और तरबूज और ककड़ी जैसे पानी से भरपूर फल और सब्जियां खाएं।

      सभी प्रकार के सिर-दर्द के लिए घरेलू उपचार क्या है ?

      जलयोजन : 

      विभिन्न प्रकार के सिर-दर्द को रोकने के लिए पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहना आवश्यक है। इसलिए दिन में कम से कम 8 गिलास पानी जरूर पियें।

      आराम : 

      पर्याप्त आराम और नींद सिर-दर्द के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती है।

      संतुलित आहार : 

      नियमित भोजन के साथ संतुलित आहार बनाए रखें। खाना छोड़ने से कुछ लोगों में सिर-दर्द हो सकता है।

      ठंडी सिकाई करें : 

      माथे पर ठंडी सिकाई करने से क्षेत्र को सुन्न करके और सूजन को कम करके त्वरित राहत मिल सकती है।

      पेपरमिंट ऑयल : 

      तनाव से होने वाले सिरदर्द को कम करने के लिए पेपरमिंट ऑयल को कनपटी पर ऊपर से लगाया जा सकता है।

      अदरक की चाय का सेवन करें : 

      अदरक में सूजनरोधी गुण होते है जो माइग्रेन के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते है।

      अरोमाथेरेपी : 

      लैवेंडर, पेपरमिंट, या नीलगिरी के आवश्यक तेलों की सुगंध सिरदर्द के दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकती है।

      ट्रिगर से बचें : 

      व्यक्तिगत सिरदर्द ट्रिगर को पहचानें और उनसे बचें, जिसमें कुछ खाद्य पदार्थ, पेय या पर्यावरणीय कारक शामिल हो सकते है।

      इन खाने की चीजों को अपनाने के बाद भी आपको सिर दर्द की समस्या से राहत न मिले, तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट न्यूरोसर्जन का चयन करना चाहिए।

      सिर दर्द की समस्या से बचाव के लिए बेस्ट हॉस्पिटल !

      अगर लगातार आप सिर दर्द की समस्या से परेशान है तो कृपया इसे नज़रअंदाज़ न करें बल्कि इसके इलाज के लिए आपको न्यूरो सिटी हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। इसके अलावा अगर आप सामान्य सिर दर्द से परेशान है तो इसके इलाज में घरेलु उपाय काफी मददगार होते है, बसर्ते की आपको इसके इलाज के लिए घरेलु उपायों को काफी अच्छे से फॉलो करना है पर उपायों को अपनाने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

      सारांश :

      सिरदर्द के प्रकारों को समझकर और सरल घरेलू उपचार अपनाकर, व्यक्ति सिरदर्द के दर्द को प्रभावी ढंग से प्रबंधित और कम कर सकते है। चाहे यह तनाव वाला सिरदर्द हो, माइग्रेन हो, या कोई अन्य प्रकार हो, विश्राम तकनीकों, उचित जलयोव जन और प्राकृतिक उपचारों का उपयोग दवा की आवश्यकता के बिना राहत लाने में मदद कर सकता है।

      Send Us A Message

        A brief note on stroke.
        brain surgery

        A brief note on stroke.

        • February 16, 2024

        • 58 Views

        Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

        What is the definition of Parkinson’s disease?
        Parkinson's Disease

        What is the definition of Parkinson’s disease?

        • February 14, 2024

        • 136 Views

        Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

        ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
        Neurologist

        ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

        • February 10, 2024

        • 212 Views

        ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…

        सिर दर्द, चक्कर आने और घबराहट की समस्या को विशेषज्ञों की मदद से करें हल !

        अगर सिर दर्द, चक्कर आने और घबराहट की समस्या आपकी भी रोजमर्रा की समस्या बन चुकी है, तो इससे घबराए न बल्कि इसके इलाज के लिए आपको किसी बेहतरीन न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर के पास जाना चाहिए। क्युकी इस तरह की समस्या से शिकार व्यक्ति अक्सर बेहतरीन मानसिक रोग विशेषज्ञ के सम्पर्क में आते है। तो चलिए जानते है की क्या है इस तरह की समस्या और इससे हम कैसे खुद का बचाव कर सकते है ;

        सिर दर्द, चक्कर आने और घबराहट की समस्या व्यक्ति को क्यों अपना शिकार बनाती है ?

        • ये तीनों समस्याएं आपस में इंटरकनेक्टेड है और ये सेहत का अच्छे से ध्यान न रखने की वजह से होता है।  
        • वहीं सिर दर्द की बात करें, तो ये व्यक्ति को अपना शिकार तब बनाती है, जब व्यक्ति के द्वारा बहुत ज्यादा चिंता की जाती है। 
        • चक्कर की समस्या भी इसी के कारण होती है, लेकिन जब हमारे द्वारा ढंग से खाना नहीं खाया जाता, तब भी व्यक्ति चक्कर आने जैसी समस्या का सामना कर सकता है। 
        • जब व्यक्ति बिना किसी बात के घबरा जाता है या उसको किसी बात की चिंता होती है, तो भी वो घबराने जैसी समस्या का सामना कर सकता है। 

        उपरोक्त में से किसी भी तरह की समस्या का अगर आप सामना कर रहें है, तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट का चयन करना चाहिए।

        सिर दर्द, चक्कर आने व घबराहट की समस्या से कैसे करें व्यक्ति खुद का बचाव ?

        • अगर आप इन तीनों समस्याओं से निजात पाना चाहते है, तो इसके लिए सबसे पहले आपको किसी अनुभवी न्यूरोलॉजिस्ट के सम्पर्क में आना चाहिए। 
        • और अगर आपको चक्कर आने जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो इससे बचाव के लिए आपको ताजा पानी पीना चाहिए, दिनभर जरूरी मात्रा में पानी पिएं.
        • ब्लैक-टी पिएं, इसमें तुलसी और अदरक का उपयोग भी आप कर सकते है, चक्कर आने पर आप चॉकलेट खाएं, केला खाएं, आइसक्रीम खाएं, ड्राइफ्रूट्स खाएं दही और चीनी का सेवन भी आप ऐसे में कर सकते है। 
        • यदि आप घबराहट और चक्कर आने की समस्या का सामना कर रही है, तो इससे बचाव के लिए आपको सुबह की पहली स्वच्छ हवा में टहलना चाहिए, जिससे आपके तनाव से लेकर सिर दर्द की समस्या से आपको निजात मिल सकें।

        अगर आपका सिर दर्द या आपको चक्कर आने की समस्या का सामना किसी गंभीर चोट के कारण पड़ रहा है, तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट न्यूरोसर्जन के सम्पर्क में आना चाहिए।

        सिर दर्द, चक्कर आने व घबराहट की समस्या के इलाज का बेस्ट हॉस्पिटल !

        अगर वाकई में आपको उपरोक्त समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो इससे बचाव के लिए आपको न्यूरो सिटी हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। वहीं इन समस्याओं के लिए कोशिश यहीं करें की आपको सर्जरी का सहारा न लेना पड़े।

        सुझाव :

        अगर आपके दिमाग या शरीर के किसी भी हिस्से में सामान्य सी भी समस्या आए तो इससे बचाव के लिए आपको डॉक्टर का सहारा लेना चाहिए और ध्यान रहें किसी भी तरह के उपाय को अपनाने से एक बार डॉक्टरी सलाह बहुत जरूरी है।

        निष्कर्ष :

        खुद का और अपने सेहत का अच्छे से ध्यान रखें ताकि किसी भी तरह की समस्या का आपको सामना न करना पड़े और सिर दर्द, चक्कर आने और घबराहट की समस्या से निजात पाने के लिए डॉक्टरी सलाह तो बहुत जरूरी है।

        अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न :

        बार-बार होने वाले गंभीर सिर दर्द के साथ चक्कर आने का क्या कारण हो सकता है?

        इसके सटीक कारणों का पता लगाना थोड़ा मुश्किल है, तो वहीं कुछ डॉक्टरों का कहना है की अकसर व्यक्ति सिर दर्द के साथ चक्कर आने की समस्या का अनुभव तब करता है, जब वो बहुत ज्यादा तनाव में खुद को महसूस करता है।  

        मैं सिर दर्द को चक्कर आने से कैसे अलग करूं?

        इसको अलग करना ज्यादा मुश्किल नहीं बस इसके लिए आपको ज्यादा सोचना बंद करना होगा और तनाव से दुरी बनानी होगी। इसके अलावा स्थिति ज्यादा गंभीर होने पर आप डॉक्टर का सहारा भी लें सकते है।

        दवा के बिना चिंता के कारण होने वाली मतली और चक्कर से छुटकारा पाने के कुछ तरीके क्या है ?

        दवा के बिना तो किसी भी बीमारी का हल मिल पाना मुश्किल है, फिर चाहे आपकी बीमारी होती हो या बड़ी लेकिन हां अगर बीमारी की अभी शुरुआत हुई है, तो इसके लिए आप चॉकलेट खाएं, केला खाएं, ड्राइफ्रूट्स खाएं, दही-चीनी खाएं जिससे आप मतली और चक्कर आने की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है।

        Send Us A Message

          A brief note on stroke.
          brain surgery

          A brief note on stroke.

          • February 16, 2024

          • 58 Views

          Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

          What is the definition of Parkinson’s disease?
          Parkinson's Disease

          What is the definition of Parkinson’s disease?

          • February 14, 2024

          • 136 Views

          Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

          ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
          Neurologist

          ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

          • February 10, 2024

          • 212 Views

          ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…

          Is It A Migraine Or A Tension Headache? Learn More With The Expert

          Headache can ruin your time within no seconds. It is the third leading reason for time lost due to illness all over the world. In this blog, we are going to focus on two different types of headaches that are very prevalent.

          The two types of headaches include:

          • Migraines

          • Tension headache

          With the help of Neuro Hospital in Punjab guidance, you will be able to understand the reasons behind developing headache and how you can treat it.

          The first step for treatment is to understand which type of headache you are suffering from, as the treatment varies from one another.

          We will look at the key differences between tension headaches and migraines for a better idea about your head pain.

          Differences Between Tension Headache And Migraines

          • Beyond the head pain

          One of the biggest differences between tension headache and migraines is that tension headache is only limited to head pain. In contrast, migraines can come along with some other set of symptoms.

          In short, migraine is a neurological disorder that requires treatment from the Best Neurologist in Ludhiana. Thus you would experience many other issues in addition to headaches, including:

          1. Neck stiffness

          2. Visual disturbances

          3. Gastrointestinal upset

          4. Sensitivity to light and sound

          5. Nausea

          6. Dizziness

          7. Fatigue

          Most often, some of these symptoms often crop up before the headache even starts. We also call them prodrome and aura stages. And after the migraine subsides, you might observe a postdrome phase in which you will experience confusion and spending.

          But in a tension headache, you would not experience such side effects affecting you. In tension headaches, the only issue you would feel is head pain.

          • A Difference In Head Pain

          When we talk about head pain only, we often notice that people describe a tension headache as someone holding your head in a tight grip. This discomfort starts from the back of the head and then further leads around the head.

          On the other hand, with migraine, most patients experience throbbing pain on one side of the head only. And if you feel pain on both sides of the head, you are more likely to have it worse on one side.

          • A difference and one similarity in triggers

          Let us now move towards the similarities and differences in its triggers and what provoked them. Learning about the causes would help you treat the problem with the right therapy.

          Many people suffering from migraines have certain triggers that push that on. Here are some of the common triggers that lead to migraine are:

          1. Changes in weather

          2. Changes in hormones (especially in women)

          3. Certain food additives

          4. Alcohol, especially red wine

          5. Exercise

          6. Dehydration

          7. Excessive caffeine

          8. Stress

          The last trigger in the list is:

          -Stress

          It is a triggering point common in tension headaches and migraines. The patient is suffering from stress that can lead to head pain.

          Apart from stress or anxiety, another triggering point that is similar to booth tension headache and migraine is muscle tension.

          Send Us A Message

            A brief note on stroke.
            brain surgery

            A brief note on stroke.

            • February 16, 2024

            • 58 Views

            Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

            What is the definition of Parkinson’s disease?
            Parkinson's Disease

            What is the definition of Parkinson’s disease?

            • February 14, 2024

            • 136 Views

            Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

            ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
            Neurologist

            ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

            • February 10, 2024

            • 212 Views

            ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…

            Everything you need to know about the cervicogenic headaches

            Headache is one of those triggering problems that can make us compromise on all our daily activities. Sometimes that stress, migraine, or sinus issue triggers this issue. The cervicogenic headache is not just the typical headache. It’s the neck pain that can reach the head pain. If you have this problem then you must consult the medical expert at one of the known Neuro Hospital in Ludhiana to better manage the situation. In this blog, I aim to tell you everything regarding cervicogenic headaches.

            Cervicogenic headaches

            • Major issue is the neck injury

            If the headache has occurred after whiplash then it’s a cervicogenic headache. Some of the additional causes are neck fracture, slipped disk, pinched nerves, sprained neck muscles, or strained neck muscles. Make sure to always get professional assistance by consulting one of the experienced Neurologist in Ludhiana & better manage your entire health.

            • Different from the other headaches

            Cervicogenic headache is one of those unique types when the pain is just on one side of the head. The problem starts from the skull base and reaches one side. If this happens then its possible head or neck movement is limited. Its possible neck movement is limited in this condition.

            • Office setup is not right

            If your office environment is making you slouch or strain then this type of headache may be triggered. If you are sitting for too long then your neck may flex down. While sitting you must keep the back 7& neck straight as much as possible.

            • Head massage is great

            In some cases, head massage can help the patients. This is because tension is relieved from the muscles which is the reason for headaches. But, before you do that make sure to consult the doctor & better check up on what to do next.

            • Old mattress & pillow create an issue

            Old mattresses or pillows may create issues. While you fall asleep the body needs proper rest & this is the time when it will get recharged. If your sleeping equipment is not right or too old to be used when you have to get it changed. Make sure that you get a pillow that can line with the neck. If your mattress or pillow has been in use for years then better get it changed.

            • Neck exercise should be avoided unless medical supervision is not there

            If you have neck pain then don’t go with the option of exercising or stretching. Trying to do this on your own is going to make it worse. The neck is one of the complex structures so make sure that you get the doctor’s assistance for the same.

            • Watch the red flags

            All those experiencing a one-sided headache need to be careful. These are the signs which require immediate attention like:

            • Weakness or numbness on one body part
            • Slurred speech
            • Dizziness or vertigo
            • Double vision or droopy eyelid
            • Severe neck pain & its sudden

             

            Send Us A Message

              A brief note on stroke.
              brain surgery

              A brief note on stroke.

              • February 16, 2024

              • 58 Views

              Stroke is a condition of the brain’s equivalent to a heart attack.…

              What is the definition of Parkinson’s disease?
              Parkinson's Disease

              What is the definition of Parkinson’s disease?

              • February 14, 2024

              • 136 Views

              Parkinson’s disease is a condition in which the nervous system and the…

              ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼
              Neurologist

              ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਕਾਰਨ, ਲੱਛਣ, ਰੋਕਥਾਮ, ਇਸਦੀ ਗੰਭੀਰਤਾ ਤੇ ਇਲਾਜ਼

              • February 10, 2024

              • 212 Views

              ਬਰੇਨ ਹੈਮਰੇਜ ਸਰਲ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿਚ ਦਿਮਾਗ ਦੀ ਨਾੜੀ ਦੇ ਫਟਣ ਨੂੰ ਕਿਹਾ…