क्या है ब्रेन फॉग के लक्षण, कारण और बचाव के तरीके ?

आज के समय में इंसान कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त नज़र आता है, खासकर जो बीमारियां हमारे दिमाग से रिलेटेड होती है, वहीं दिमाग से जुडी बीमारियां आगे जाकर गंभीर रूप ले सकती है, ऐसे में हमें दिमाग संबंधी विकार या बीमारी के बारे में पहले से पता होना बहुत ज्यादा जरूरी है, तो चलिए जानते है दिमाग से संबंधित बीमारियां या ब्रेन फॉग क्या है, इसके लक्षण क्या होते है, और आगे चल के इससे क्या समस्या हो सकती है और इसका निदान क्या है, तो चलिए हम आपको इन सब से संबंधित बातों के बारे में आपको बताते है ;

क्या है ब्रेन फॉग ?

  • यह एक मानसिक विकार है, जिसमें व्यक्ति की याददाश्त शक्ति कमजोर हो जाती है। व्यक्ति को कुछ भी स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देता उसे खुद के आगे धुंधला सा दिखाई देता है। 
  • वह कुछ भी सोचने और समझने के काबिल नहीं हो पाता। इसके कई मामलों में तो व्यक्ति बोलता क्या है और करता क्या है, उसे खुद पता नहीं होता है। अगर शुरुआत में ही इसका इलाज नहीं किया जाता है, तो यह बीमारी खतरनाक साबित हो सकती है। 
  • कुछ विशेषज्ञ का कहना है कि इस बीमारी में व्यक्ति हमेशा उलझन में रहता है। साथ ही खुद को अकेला और अव्यवस्थित समझता है।

दिमाग की इस तरह की समस्या के बारे में जानने के लिए आपको लुधियाना में न्यूरोलॉजिस्ट के सम्पर्क में आना चाहिए।

ब्रेन फॉग से कौन-कौन सी समस्याए होती है ?

  • इस स्थिति में दिमाग संबंधी परेशानी जैसे याददाश्त कम होना, ध्यान न लगना, समझने में दिक्कत का सामना करना, मानसिक स्पष्टता की कमी।
  • कमजोर एकाग्रता और कई तरह की समस्या हो सकती है। 
  • इसके कारण कई बार व्यक्ति को मानसिक थकान का भी सामना करना पड़ सकता है। 

ब्रेन फॉग के दौरान कौन-से लक्षण नज़र आते है ?

  • इसमें व्यक्ति के याददाश्त कमजोर होने के लक्षण नज़र आते है। 
  • सोचने की शक्ति ख़राब हो जाती है। 
  • किसी भी चीज की तरफ एकाग्रता को बनाए रखने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। 
  • घबराना और विचलित होना भी इसी के लक्षणों में शामिल है। 
  • विटामिन बी-12 की कमी। 
  • दवाओं के गलत प्रभाव। 

ब्रेन फॉग के लक्षण ज्यादा गंभीर होने पर लुधियाना में बेस्ट न्यूरोसर्जन से सलाह लें।

ब्रेन फॉग से बचाव के तरीके क्या है ?

इसके लिए डॉक्टर की सलाह जरूरी है। जब भी ब्रेन फॉग के लक्षण नजर आए, तो डॉक्टर से मिलें। जबकि ब्रेन फॉग से बचने के लिए तनाव से दूर रहें। अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव करें। नियमित और संतुलित आहार लें। रोजाना एक्सरसाइज करें। सोशल एक्टिविटी पर क्या चल रहा है उस पर पूरा ध्यान दें।

ब्रेन फॉग के कारण क्या है ?

हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो ब्रेन फॉग का मुख्य कारण तनाव है। तनाव से उच्च रक्तचाप बढ़ता है। उच्च रक्तचाप से स्मरण शक्ति कमजोर होती है। साथ ही थकान महसूस होती है। इस स्थिति में मानसिक संतुलन कई दफा बिगड़ जाता है। और कई मौके पर व्यक्ति की जुबान भी लड़खड़ाने लगती है।

सुझाव :

दिमाग जोकि मानव शरीर का बहुत ही कीमती तौफा है इसलिए जरूरी है की इसमें सामान्य से भी दोष नज़र आए तो जल्द डॉक्टर का चयन करें।

ब्रेन फॉग के इलाज के लिए बेस्ट हॉस्पिटल :

आप अगर दिमागी तौर से काफी परेशान है तो इससे बचाव व इलाज के लिए आपको न्यूरो सिटी हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए।

निष्कर्ष :

दिमाग जोकि बहुत ही कीमती तौफा है व्यक्ति के सम्पूर्ण शरीर का इसलिए जरूरी है की इसमें किसी भी तरह की अगर परेशानी नज़र आए तो इससे बचाव के लिए आपको डॉक्टर का चयन करना चाहिए।

Send Us A Message

    क्या मिर्गी महिलाओं में गर्भावस्था को प्रभावित कर सकती है?
    EpilepsyHindi

    क्या मिर्गी महिलाओं में गर्भावस्था को प्रभावित कर सकती है?

    • April 17, 2024

    • 295 Views

    एक वक्त में कहा जाता था कि मिर्गी से पीड़ित महिलाए, कभी…

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियाँ या स्ट्रोक के क्या है कारण, लक्षण जोखिम कारक और उपचार के तरीके ?
    Neurologist

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियाँ या स्ट्रोक के क्या है कारण, लक्षण जोखिम कारक और उपचार के तरीके ?

    • April 12, 2024

    • 3062 Views

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियां, जो अक्सर स्ट्रोक का कारण बनती है, एक…

    सिर दर्द के प्रकार और घरेलु उपायों को जानकर हम कैसे इससे छुटकारा पा सकते है ?
    HeadacheHindi

    सिर दर्द के प्रकार और घरेलु उपायों को जानकर हम कैसे इससे छुटकारा पा सकते है ?

    • April 8, 2024

    • 2596 Views

    सिरदर्द एक आम बीमारी है जो हमारे दैनिक जीवन को बाधित कर…