मानसून के मौसम में माइग्रेन की समस्या क्या है – जानिए इसके कारण, लक्षण, रोकथाम और इलाज !

माइग्रेन जोकि खतरनाक वाला सिरदर्द है जो दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करता है। हालाँकि वे किसी भी समय हमला कर सकते है, लेकिन मानसून के मौसम के दौरान वे अक्सर अधिक प्रचलित हो जाते है और प्रबंधन करना चुनौतीपूर्ण हो जाता है। इस ब्लॉग में, हम इस बरसात के मौसम में माइग्रेन के कारणों, लक्षणों, रोकथाम और उपचार के विकल्पों का पता लगाएंगे ;

मानसूनी माइग्रेन के क्या कारण है ?

  • तापमान और वायुमंडलीय दबाव में अचानक बदलाव से संवेदनशील व्यक्तियों में माइग्रेन हो सकता है।
  • उच्च आर्द्रता के स्तर से निर्जलीकरण हो सकता है, जो एक ज्ञात माइग्रेन ट्रिगर है।
  • नमी की स्थिति के कारण फफूंद और पराग के स्तर में वृद्धि एलर्जी वाले लोगों में माइग्रेन को बढ़ा सकती है।
  • बादल छाए आसमान और मंद प्राकृतिक रोशनी लोगों को कृत्रिम रोशनी के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकती है, जो माइग्रेन को ट्रिगर कर सकती है।

मानसूनी माइग्रेन के लक्षण क्या है ?

  • मानसून के मौसम में माइग्रेन के लक्षणों की पहचान करना समय पर हस्तक्षेप के लिए महत्वपूर्ण है। सामान्य माइग्रेन के लक्षणों में शामिल हैं:
  • गंभीर, धड़कता हुआ दर्द, जो अक्सर सिर के एक तरफ होता है।
  • माइग्रेन के कारण तीव्र मतली हो सकती है, जिससे कभी-कभी उल्टी भी हो सकती है।
  • प्रकाश (फोटोफोबिया) और ध्वनि (फोनोफोबिया) के प्रति बढ़ी हुई संवेदनशीलता सामान्य है।
  • कुछ व्यक्तियों को सिरदर्द शुरू होने से पहले दृश्य गड़बड़ी का अनुभव होता है, जैसे चमकती रोशनी या टेढ़ी-मेढ़ी रेखाएं।

यदि माइग्रेन के लक्षण लगातार गंभीर होते जाए तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट का चयन करना चाहिए।

मानसूनी माइग्रेन के दौरान किस तरह के रोकथाम को अपनाएं!

  • हालाँकि आप मौसम को नियंत्रित नहीं कर सकते, लेकिन आप मानसून के मौसम में माइग्रेन को रोकने के लिए कदम उठा सकते है, जैसे –
  • निर्जलीकरण से निपटने के लिए खूब पानी पिएं, जो आर्द्र परिस्थितियों में माइग्रेन का एक आम कारण है।
  • तनाव को कम करने के लिए ध्यान और गहरी सांस लेने जैसी विश्राम तकनीकों का अभ्यास करें, जो माइग्रेन को कम कर सकें।
  • नींद से संबंधित ट्रिगर्स को कम करने के लिए लगातार नींद का शेड्यूल बनाए रखें।
  • ऐसे खाद्य पदार्थों से बचें जो माइग्रेन को ट्रिगर कर सकते है, जैसे कैफीन, शराब, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और कृत्रिम योजक वाले खाद्य पदार्थ।
  • अपनी आँखों को तेज़ या टिमटिमाती रोशनी से बचाने के लिए धूप का चश्मा या चौड़ी किनारी वाली टोपी पहनें।
  • यदि आपको एलर्जी है, तो उचित प्रबंधन के लिए एंटीहिस्टामाइन लें या किसी एलर्जी विशेषज्ञ से परामर्श लें।

यदि रोकथाम करने के बाद भी इसकी समस्या लगातार बढ़ते जाए तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट न्यूरोसर्जन का चयन करना चाहिए।

मानसूनी माइग्रेन का इलाज क्या है ?

जब मानसून के मौसम में माइग्रेन होता है, तो यह जानना आवश्यक है कि दर्द को कैसे कम किया जाए ;

ओवर-द-काउंटर दवाएं लें : 

इबुप्रोफेन या एसिटामिनोफेन जैसी गैर-पर्ची दर्द निवारक दवाएं यदि निर्देशानुसार ली जाएं तो राहत मिल सकती है।

प्रिस्क्रिप्शन दवाएं : 

ट्रिप्टान या मतली-रोधी दवाओं जैसी मजबूत माइग्रेन-विशिष्ट दवाओं के लिए स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से परामर्श लें।

आराम और अंधेरा कमरा अपनाए : 

संवेदी उत्तेजनाओं को कम करने के लिए एक शांत, अंधेरे कमरे में लेटें।

ठंडी सिकाई करें : 

दर्द को कम करने और सूजन को कम करने के लिए अपने माथे पर ठंडी सिकाई करें।

जलयोजन : 

हाइड्रेटेड रहने और मतली को कम करने के लिए पानी या हर्बल चाय पियें।

कैफीन : 

कुछ मामलों में, कैफीन की थोड़ी मात्रा माइग्रेन के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद कर सकती है। लेकिन इसकी कुछ ही मात्रा लें वो भी डॉक्टर के सलाह पर। 

पेशेवर मदद : 

क्रोनिक माइग्रेन या मानक उपचारों के प्रति प्रतिरोधी माइग्रेन के लिए, किसी न्यूरोलॉजिस्ट या सिर दर्द विशेषज्ञ से परामर्श लेने पर विचार करें।

मानसूनी माइग्रेन की समस्या के इलाज के लिए बेस्ट हॉस्पिटल !

अगर आप मानसून के मौसम में आने वाले माइग्रेन की समस्या से खुद का बचाव करना चाहते है, तो इसके लिए आपको न्यूरो सिटी हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए, पर ध्यान रहें अगर अभी आपके माइग्रेन की शुरुआत हुई है तो आप इससे बहुत ही आसानी से खुद का बचाव कर सकते है, वो भी खुद का अच्छे से ध्यान रखकर। पर अगर स्थिति गंभीर हो जाए तो इसके लिए आप इस हॉस्पिटल के डॉक्टर का चयन कर सकते है। 

निष्कर्ष :

याद रखें कि जो एक व्यक्ति के लिए उपचार काम करता है वह दूसरे के लिए काम नहीं कर सकता है, इसलिए अपने अद्वितीय ट्रिगर्स की पहचान करना और इस बरसात के मौसम के दौरान माइग्रेन से निपटने के लिए एक व्यक्तिगत योजना विकसित करना आवश्यक है। उचित देखभाल और जागरूकता के साथ, आप माइग्रेन के प्रभाव को कम कर सकते है और मानसून के मौसम का पूरा लुफ्त उठा सकते है। 

Send Us A Message

    क्या मिर्गी महिलाओं में गर्भावस्था को प्रभावित कर सकती है?
    EpilepsyHindi

    क्या मिर्गी महिलाओं में गर्भावस्था को प्रभावित कर सकती है?

    • April 17, 2024

    • 295 Views

    एक वक्त में कहा जाता था कि मिर्गी से पीड़ित महिलाए, कभी…

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियाँ या स्ट्रोक के क्या है कारण, लक्षण जोखिम कारक और उपचार के तरीके ?
    Neurologist

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियाँ या स्ट्रोक के क्या है कारण, लक्षण जोखिम कारक और उपचार के तरीके ?

    • April 12, 2024

    • 3062 Views

    मस्तिष्क में अवरुद्ध धमनियां, जो अक्सर स्ट्रोक का कारण बनती है, एक…

    सिर दर्द के प्रकार और घरेलु उपायों को जानकर हम कैसे इससे छुटकारा पा सकते है ?
    HeadacheHindi

    सिर दर्द के प्रकार और घरेलु उपायों को जानकर हम कैसे इससे छुटकारा पा सकते है ?

    • April 8, 2024

    • 2595 Views

    सिरदर्द एक आम बीमारी है जो हमारे दैनिक जीवन को बाधित कर…